HomeBitcoinsक्या है यह क्रिप्टो करेंसी? चलिए इसके बारे में विस्तार में जानते...

क्या है यह क्रिप्टो करेंसी? चलिए इसके बारे में विस्तार में जानते हैं

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल और आभासी अर्थात, वर्चुअल मुद्रा(virtual currency) है, जिसको आप निवेश(as a investment) के रूप में या, आप इसको सामान और शिवाय खरीदने के लिए इस्तेमाल करा सकते है। इन अनियमित मुद्राओं में ज्यादा ही रुचि लाभ के लिए व्यापार करना होगा और ज़दर डिपाजिटार के साथ कभी-कभी कीमत आसमान भी छू सकता है।

दुनिया में 15000 से भी ज्यादा मुद्रा क्रिप्टो के बाजार में लागू हो चुके हैं, उसमें से कुछ ही मुद्रा ही पॉपुलर हुए हैं, जैसे बिटकॉइन(BITCOIN), एथेरियम(ETHEREUM), मैटिक्स(MATIX), बाइनेंस कॉइन(BINANCE COIN), पॉलीगोन(POLYGON), लाइट कॉइन(LITE COIN)।

इस साल सबसे लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन का कीमत बहुत ज्यादा मात्रा में उतार चढ़ाव हो रहा है। 2021 में मई की मायने में बिटकॉइन का कीमत लगभग आधा मूस्तरल्य खोने से पहले अप्रैल में लगभग $65000 पहुंच गया हे। गिरावट से बिटकॉइन का कीमत फिर से तेजी से बढ़ गई है।

क्या है यह क्रिप्टो करेंसी? चलिए इसके बारे में विस्तार में जानते हैं

क्रिप्टो करेंसी क्या है(what is crypto currency)?

क्रिप्टो मतलब गुप्त(secret) और, करेंसी (currency)मतलब सामान और शिवाय खरीदने का एक माध्यम। कई कंपनियों ने खुद के मुद्राये जारी करना शुरू कर दिया है, जिसको अक्सर टोकन कहां जाता है। इनका विशेष रूप से कंपनी द्वारा प्रदान की जाने वाली सामान और शिवा के लिए कारोबार किया जा सकता है।

क्रिप्टो करेंसी एक बीकेंद्रिक मध्यम है जो पूरा पूरी ब्लॉकचेन के ऊपर निर्भर करता है। क्रिप्टो करेंसी का ऑनलाइन लेन देन को सुरक्षित करने के लिए एक ऑनलाइन लेजर अर्थात, क्रिप्टोग्राफी का उपयोग किया जाता है। ब्लॉकचेन एक विकेन्द्रीकृत तकनीक है जो कई कंप्यूटरों में फैली हुई है जो लेनदेन का प्रबंधन और रिकॉर्ड करती है। इस तकनीक की अपील का एक हिस्सा इसकी सुरक्षा है।
31 अक्टूबर 2008 मैं एक व्यक्ति Satoshi Nakamoto ने पहली बार क्रिप्टो करेंसी के बारे में सुजाता। उसी ने पहली बार इंटरनेट पे एक पेपर पब्लिस किया था। और उनका पूरा मकसद उस पेपर के पहली लाइन सही समझ में आ रहा था, जो था एक ऐसा मुद्रा (currency) जो किसी के अधीन ना होके पूरा बीकेंद्रिक मुद्रा(decentralized currency), जिसके ऊपर कोई थर्ड पार्टी इंस्टिट्यूशन का नियंत्रण ना हो।

कितने प्रकार या कितने क्रिप्टो करेंसी दुनिया में है?

कितने प्रकार या कितने क्रिप्टो करेंसी दुनिया में है?(types of crypto currency or how many crypto currencies are there?)

दुनिया में 15,000 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी मौजूद है, लेकिन ब्लॉकचेन के ऊपर निर्भरित पहला क्रिप्टो करेंसी है बिटकॉइन, जो ज्यादा मात्रा में क्रिप्टो के बाजार मैं प्रसिद्ध हो रहा है। इस साल के दिसंबर तक क्रिप्टो करेंसी का कूल कीमत लगभग 2.3 ट्रिलियन का है, जो 1 सप्ताह पहले सुपर नाइस 2.9 ट्रिलियन डॉलर से ऊपर के स्तर गिर गया था। सभी बिटकॉइन का कूल कीमत लगभग 968.7 बिलियन डॉलर आंकी गई थी।

दुनिया का सबसे पहला क्रिप्टो करेंसी है बिटकॉइन जो, 2009 मे सतोशी नाकामोटो (Satoshi Nakamoto) और उसकी टीम ने लॉन्च किया था। 2021 के नवंबर तक, क्रिप्टो के बाजार मैं 18 मिलियन से अधिक बिटकॉइन था। और यह डाटा बार-बार अपडेट होता है। मुद्रास्फीति और हेरफेर को रुकने के लिए केवल 21 मिलियन बिटकॉइन मौजूद रहेगा।

क्रिप्टो करेंसी इतना लोकप्रिय क्यों है?(Why are crypto currencies so popular?)

हाल ही में क्रिप्टो करेंसी ज्यादा मात्रा में लोकप्रिय (popular) हो रहा है। यह इतनी जल्दी दुनिया में लोकप्रिय होने के पीछे कुछ कारण है, जो आज में आप लोगों को दिखाने वाला हूं। यदि आप क्रिप्टो के बाजार में एकदम विगिनार हो, तो आप थोड़ा नर्वस हो रहे हो की आपको क्रिप्टो में इन्वेस्ट करना चाहिए या नहीं। नाराज होने की कोई बात नहीं है नीचे दिए हुए कराणो को ध्यान से पढ़िए।

  1. बहुत सारे सपोर्टर्स इस कारण को बहुत पसंद करते हैं की क्रिप्टो करेंसी सेंट्रल बैंक के पैसों की सप्लाइ को पावर धन से हटा देती है क्योंकि समय के साथ यह बैंक मुद्रास्फीति के मध्यम से पैसों के मूल्य को बहुत घटा देती है। क्योंकि क्रिप्टो एक विकेंद्रिक (यह विकेंद्रीकृत संरचना उन्हें सरकारों और केंद्रीय अधिकारियों के नियंत्रण से बाहर रहने की अनुमति देती है) मुद्रा है, तो इस पर कोई सेंट्रल बैंक और कोई थर्ड पार्टी ऑर्गेनाइजेशन नियंत्रण नहीं है, इसलिए पैसों की कोई मूल्य घटने की टेंशन नहीं है।
  2. कुछ समर्थकों ने इस क्रिप्टो करेंसी की ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को बहुत पसंद करता है, इसके बदौलत बिटकॉइन के लंदन के ऊपर किसी का नियंत्रण नहीं रहता है। इसका लेनदेन का सारा बेटा यह तथ्य बहुत सारे कंप्यूटर के अंदर स्टोर रहता है। और क्रिप्टो करेंसी का यह ब्लॉकचेन मेथड पारंपरिक भुगतान प्रणाली अर्थात ट्रेडिशनल पेमेंट सिस्टम (Traditional payment system) से बहुत ज्यादा शेष(safe) है।
  3. आप क्रिप्टो करेंसी को इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म या आप इसको ऐस आ (as a) पेमेंट इस्तेमाल कर सकते हो।
  4. बहुत सारे सपोर्टर्स बिटकॉइन जैसे क्रिप्टो करेंसी को भविष्य की करेंसी अर्थात मुद्रा के रूप में देखते हैं, और यह ज्यादा मुल्ले वन ना हो जाए इसलिए उन मुद्राओं को खरीदने के लिए सब लोग दौड़ रहा है।
  5. कुछ ट्रेडर्स अर्थात सट्टेबाजों को क्रिप्टो करेंसी पसंद आ रहा है क्योंकि इसका मूल्य तेजी से बर हो रहा है।
ब्लॉकचेन क्या है?

ब्लॉकचेन क्या है?(what is block chain?)

बिटकॉइन और सभी क्रिप्टो करेंसी का लेन देन ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के ऊपर निर्भर है। आप कह सकते हो ब्लॉकचेन इस लिटिल लाइका आ चेक बुक अर्थात ब्लॉकचेन को आप चेक बुक भी बोल सकते हो, जिसमें बिटकॉइन का सभी लेनदेन दुनिया भर के अनगिनत कंप्यूटर में स्टॉर किया होता है। सबसे पहले आप का लेन देन ब्लॉक के रिकॉर्ड होता है, फिर वह ब्लॉक एक चैन में लिंक होता है।

एक किताब की कल्पना करें जहां आप हर दिन पैसा खर्च करते हैं। उस किताब के सभी पेज एक ब्लॉक के समान है, और बुरा किताब पेज को एक साथ, एक ब्लॉकचेन है।

ब्लॉकचेन एक वितरित खाता है जिसमें क्रिप्टो करेंसी का सब लेनदेन रिकॉर्ड होता है अर्थात यदि आपके पास 1 बिटकॉइन है आप उस बिटकॉइन को आपने दोस्त को दे रहे हो, इसको कंप्यूटर की डॉक्यूमेंट में नोट कर लिया, यही हिसाब रखने वाले डॉक्यूमेंट को कहते हैं लेजर। यह लेजर बहुत सारे कंप्यूटर मे स्टोर रोता है। यह हिसाब हर कंप्यूटर में होता है अगर कोई एक बंदे ने गड़बड़ करने की कोशिश की तो, वह सारे कंप्यूटर्स की लेजर से मिसमैच होगा और वो पकड़ा जाएगा।

ब्लॉकचेन देखे तो एक तरह से ट्रेन जैसा होता है। अगर एक ब्लॉक पर ट्रांजैक्शन भर गई तो अगला ब्लॉक उसके साथ जुड़ जाता है उसमें भी ट्रांजैक्शन भर गई तो और एक ब्लॉक जुड़ जाएगा ऐसे ही एक के बाद एक ब्लॉक जूर के ब्लॉकचेन बनता है। हर ब्लॉक में जो ट्रांजैक्शन शुरू होती है वह अगले वाले ब्लॉक के ट्रांजैक्शन से जुड़ा होता है।

आप इसे समझ सकते हो, आपके साडे ट्रांजैक्शन आपस में कनेक्टेड है ब्लॉकचेन के बदौलत। यह ब्लॉकचेन से एक कंप्यूटर में नहीं है बल्कि कई सारे लाखो हजारों कंप्यूटर में पूरी ट्रांसपेरेंसी के साथ होती है। अगर कोई हैकर आपके साथ चैट करना चाहिए तो वह कर ट्रैक हो जाएगा अर्थात पकड़ा जाएगा पुष्पा।

और जो भी लोग यह पब्लिक लेजर अतात ब्लॉकचेन को मेंटेन कर रहा है उसको कहता है माइनरस। और इस प्रोसेस अर्थात पकरिया को मेंनटेन करना और भेलिडेट करने को माइनिंग बोला जाता है।

Note: इन माइनरस को माइनिंग प्रोसेस को मेंनटेन अर्थात शामली के लिए बिटकॉइन जैसे क्रिप्टो करेंसीस दिया जाता है।

क्या क्रिप्टो करेंसी लीगल है?

क्या क्रिप्टो करेंसी लीगल है? (Are Crypto currency legal?)

फिएट मुद्राएं अर्थात सरकार के द्वारा यीशु किया हुआ मुद्राएं जो सरकार या मौद्रिक अधिकारियों से लेन देन के माध्यम के रूप में अपना अधिकार जामाता दे। उदाहरण के रूप में, हर एक डॉलर के बिल को फेडरल रिजल्ट द्वारा बैकस्टैब किया जाता है।

लेकिन क्रिप्टो करेंसी किसी भी पब्लिक या प्राइवेट संस्थाओं द्वारा कोई भी समर्थन नहीं है। इसलिए दुनिया के विभिन्न फाइनेंसियल जूरिस डिकेशन (Financial jurisdiction)मै क्रिप्टो करेंसी की कानूनी स्थिति के लिए मामला बनाना मुश्किल है। यह उन मामलों में मदद नहीं करते है क्रिप्टो करेंसी बड़े पहनाने पे एक्जिस्टिंग फाइनेंसियल इंफ्रास्ट्रक्चर अर्थात मौजूदा वित्तीय बुनियादी ढांचे के बाहर कम करती हैं।

क्रिप्टो करेंसी की लीगल स्टेटस अर्थात कानूनी स्थिति का दैनिक लेनदेन और ट्रेडिंग(Trading) में उनके उपायोग पर प्रभात पड़ता है। जून 2019 में, फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स(F.A.T.F.) ने सिफारिश की है कि क्रिप्टो करेंसी के वायर ट्रांसफर यात्रा नियम की आवश्यकताओ के अधीन होना चाहिए जिसके लिए ALM पालन की आवश्यकता होती है।

सूत्रों के अनुसार लगभग नो देश में क्रिप्टो करेंसी को बैन किया गया है, जिसमें हबांग्लादेश ( Bangladesh), इजिप्ट(Egypt), अल्जीरिया( Australia), इराक(Iraq), मोरक्को(Morocco), नेपाल(Nepal), कतार(Quarter), ट्यूनीशिया(Tunisia), और चाइना(china) जैसे देश भी है। चाइना में क्रिप्टो करेंसी का ट्रेडिंग अर्थात व्यापार और माइनिंग के ऊपर सख्त रोक है।

क्रिप्टो करेंसी का इतिहास

उसे पूरा उल्टा, 2021 के दिसंबर महीने में एल साल्वाडोर(El Salvador) एकमात्र ऐसा देश है जो बिटकॉइन को मौलिक लेनदेन के लिए एलाऊ किया हैं आज आ (as a) लीगल टेंडर अर्थात कानूनी निविदा। दुनिया के बाकी हिस्सों में क्रिप्टो करेंसी विनयमन क्षेत्राधिकार के अनुसार अलग होता है। एल साल्वाडोर के प्रेसिडेंट ने बोला है, ओ उनकी देश को बिटकॉइन सिटी में बदलने के उद्योग लेने वाले है, जिसमें सिर्फ बिटकॉइन द्वारा लेन देन किया जाएगा।

बात सिर्फ 12 साल पहले की है जब जैपनीज कंप्यूटर साइंटिस्ट सतोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) 2008 के 31 सेप्टेंबर में एक वाइट पेपर जिसका टाइटल था “Bitcoin: A peer-to-peer electronic cash system” Bitcoin.org डोमेन पर पोस्ट किया था जिसको सतोशी ने 2008 मैं 18 अगस्त पे रजिस्टर करी थी। उस वाइट पेपर की पहली लाइन”A purely peer-to-peer version of electronic cash would allow online payments to be send it directly from one party to another without going through a financial institution”, सही उनकी मेन मकसद समझ में आ गया था।

सरकार के जारी करें हुए या आपके पास जो कागज का ऐसा है उसमें सरकार या फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन का नियंत्रण होता है। यदि आप कोई बैंक पर अपना पैसा डिपॉजिट करते हो तो आप बैंक को उस पैसों के साथ खिलवाड़ करने के इज्जत देते हो और उस पैसों से बैंक वाले बड़े बड़े कंपनियों को लोन देता है। कभी-कभी बैंक बिना चेक के बड़े-बड़े कंपनियों को लोन दे देते हैं जो बाद में डेट डेट बन जाता है और शिकार होता है आम जनता अर्थात डिपाजिटरस।

Note: पिछले 15 महीनों में 3 डिपॉजिट देने वाले इंस्टिट्यूशन फेल हो चुके हैं जिसमें येस बैंक लक्ष्मी विलास बैंक और पी.एम.सी. बैंक भी शामिल है। सरकार के कई डीसिसान से भी आम जनता को बहुत ही तकलीफ करना पड़ता है, जैसे 2016 का डी मोनेटाइजेशन जिसमें सरकार एक झटके में 500 और 1000 के नोट राद कर दिया था जिससे भारत के कुल 86% करेंसीस अनयूजेबल हो गई थी।

इसलिए सतोशी ने एक ऐसा मुद्रा बनाने की कोशिश की जिसमें कोई सरकार, बैंक और कोई फाइनेंसियल इंस्टिट्यूशन का नियंत्रण ना हो।

क्रिप्टो करेंसी का फायदा और नुकसान (Advantages and Dis advantages of Crypto currencies)

क्रिप्टो करेंसी एक वर्चुअल मुद्रा है जिसके ऊपर कोई सरकार या कोई मौद्रिक अधिकारियों का प्रभात नहीं हो। क्रिप्टो करेंसी को फाइनेंसियल स्ट्रक्चर अर्थात वित्तीय बुनियादी ढांचे में क्रांति ले आने के लिए पेश करा गया था। कहावत में है, हार एक कांति के साथ-साथ एक एक और अंधेरा जन्म लेता है। क्रिप्टो करेंसी के विकास के वर्तमान समय में, क्रिप्टो करेंसी और उसका व्यवहारिक कामा के साथ विकेंद्रीक प्रणाली का सैद्धातिक आदर्शों के साथ कहीं डिफरेंस अर्थात मतभेद दिखाई दी है। इसलिए आज मैं क्रिप्टो करेंसी का फायदा और नुकसान अच्छे से समझाने बाला हूं-

क्रिप्टो करेंसी का फायदा(Advantages of Crypto currencies)

यदि आप पैसा ट्रांसफर कर रहे हो तो ज्यादा तर ऐसा थर्ड पार्टी यानी बैंक और चेंज कर कंपनीज ट्रांसफरेबल कॉस्ट काट लेती है। क्योंकि क्रिप्टो करेंसी एक डिसेंट्रलाइज्ड इसलिए किसी थर्ड पार्टी अर्थात तृतीय पक्ष जैसे बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनी के बिना, दो पक्षों के बीच सीधा मनी ट्रांसफर करना आसान बनाने का वादा करें हे।

सिर्फ यही नहीं कि, हैंड टू हैंड पैसा ट्रांसफर करती है। क्रिप्टो करेंसी स्टैंडर्ड मनी ट्रांसफर क्या तुलना में बहुत जल्दी होता है। एल साल्वाडोर के लोक जब देश में पैसे भेजते थे तब उसमें बहुत टाइम और एक्स्ट्रा पैसा लगता था, इसलिए एल साल्वाडोर के प्रेसिडेंट बिटकॉइन को लीगल टेंडर के रूप में शिकार कर लिया है।

क्रिप्टो करेंसी पर इन्वेस्ट यानी निवेश का उपयोग प्रॉफिट जनरेट करने के लिए क्या जा सकता है। इसकी मार्केट वैल्यू डेंजर इन आसमान छू रही हैह, पिछले एक दशक में एक समय में लगभग $2 ट्रिलियन तक पहुंच गया है। उदाहरण के रूप में 2021 में दिसंबर के महीने क्रिप्टो के बाजार में बिटकॉइन का मूल्य लगभग $862 बिलियन से अधिक था।

क्रिप्टो करेंसी पैसों के लिए एक नया विकेंद्रित प्रतिमान का प्रतिनिधित्व करती है। इस प्रोसेस में, सेंट्रलाइज्ड इंटरमीडियारस अर्थात, केंद्र मध्यस्थ जैसे कि बैंक और मौद्रिक संस्थान (monetary institutions), दोनों के बीच विश्वास और पुलिस लंदन को लागू करने के लिए अनिवार्य है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments